सूरत,गुजरात : शहर में कई संस्थाएं कार्य कर रही है। पशु भी आपने समाज का एक हिस्सा है। हाल के समय में पशुओं पर भी ध्यान देने की जरूरत है।  कोरोना के चलते लोग घर में बैठे हुए ।पंछी पक्षों के लिए अपना गुजारा चलाना मुश्किल है। सामाजिक कार्यकर्ता और ऑल इंडिया कांग्रेस कमेटी सदस्य निकेत पटेल ने बताया कि पशुओं के लिए व्यवस्था करने की कलेक्टर और पुलिस आयुक्तों को भी मेल दौरा मांग की गई है डॉग्स शहर के अलग-अलग पुस्तक जैसे कि वेसू पाल मैं बड़े-बड़े अपार्टमेंट है वह लोग घर से बाहर नहीं निकलते जिससे पशुओं को खुराक नहीं मिल रहा है। ऐसे संजोग में उनका बर्ताव बदल रहा है पहले लोग पक्षियों के लिए दाना डालते थे वह भी फिलहाल बंद है। पेट डॉग्स कैट्स लोगों के घरों में पेट डॉग से उनके संबंधित दुकान बंद होने से उनके खुराक और दवा की व्यवस्था फ़िलहाल नहीं हो पा रही है। शहर में प्राणी और पक्षों के लिए काम करने वाली संस्था जैसे कि प्रयास और अन्य वॉलंटरी काम करने के लिए तैयार है। कार्यकर्ताओं को आई कार्ड बनाने की छूट दी जाए तो इसके अलावा पशु संबंधित दवाखाना पेट शॉप खुले रखने की मांग की है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *